“The Knowledge Library”

Knowledge for All, without Barriers…

An Initiative by: Kausik Chakraborty.
02/02/2023 11:22 PM

“The Knowledge Library”

Knowledge for All, without Barriers……….
An Initiative by: Kausik Chakraborty.

The Knowledge Library

Important Points about Constituent Assembly of India

संविधान निर्माण के लिए संविधान सभा(Constituent Assembly) की मांग

-> सर्वप्रथम 1895 में बाल गंगाधर तिलक ने भारतीयों के लिए संविधान सभा की मांग की |
-> 1922 में गांधी जी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि भारतीय संविधान भारतीयों की इच्छानुसार ही होगा |
-> एक दल के रूप में सर्वप्रथम स्वराज्य पार्टी ने 1924 में संविधान सभा की मांग की |
-> 1934 में M.N.राय ने सर्वप्रथम औपचारिक रुप से संविधान सभा के विचार का प्रतिपादन किया |
-> 1936 में भारतीय कांग्रेस ने फैजपुर अधिवेशन में संविधान सभा के गठन का प्रस्ताव पारित किया |
-> 1938 में पंडित जवाहरलाल नेहरु ने व्यस्क मताधिकार के आधार पर संविधान सभा के गठन की मांग की |

संविधान निर्माण के लिए संविधान सभा(Constituent Assembly) का गठन

-> भारत में संविधान सभा का गठन कैबिनेट मिशन के तहत किया गया |

-> 9 दिसंबर 1946 को दिल्ली के केंद्रीय (विधानसभा) हॉल में आयोजित संविधान सभा की प्रथम बैठक में “डॉक्टर सच्चिदानंद सिन्हा” को संविधान सभा का अस्थायी सदस्य बनाया गया |
-> 11 दिसंबर 1946 को दूसरी बैठक में “डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद” को स्थायी सदस्य बनाया गया |तथा “बी. एन. राव(बेनेगल नर्सिंग राव)” की नियुक्ति संवैधानिक सलाहकार के रूप में की गई |
-> संविधान सभा की कार्यवाही 13 दिसंबर 1946 ईसवीं को पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा पेश किए गए उद्देश्य प्रस्ताव के साथ प्रारंभ हुआ |
-> उद्देश्य प्रस्ताव 22 जनवरी 1947 को स्वीकृत हुआ |इसके बाद संविधान सभा ने संविधान निर्माण हेतु अनेक समितियां नियुक्ति की इनमें प्रमुख समितियां एवं उनके अध्यक्ष थे |
   -> प्रारूप समिति – डॉ. भीमराव अंबेडकर 
   -> संघ शक्ति समिति – पंडित जवाहरलाल नेहरू
   -> संचालन समिति – डॉ. राजेंद्र प्रसाद
   -> संघ संविधान समिति – पंडित जवाहरलाल नेहरू 
   -> प्रांतीय संविधान समिति – सरदार वल्लभ भाई पटेल
   -> झंडा समिति – जे. बी. कृपलानी

संविधान सभा(Constituent Assembly) की प्रमुख समितियां एवं उनके अध्यक्ष को याद रखने की Trick

Trick: प्राश, संचालन संघ प्रांतीय झंडा पर – आज राज सर की कृपा है |

Constituent Assembly of India

-> इसी उद्देश्य प्रस्ताव के आधार पर “B.N राव” ने भारतीय संविधान का प्रथम प्रारूप तैयार किया |
-> “B.N राव” द्वारा तैयार किए गए प्रारूप की जांच करने के लिए 29 अगस्त 1947 को “भीमराव अंबेडकर” की अध्यक्षता में 7 सदस्यों की प्रारूप समिति का गठन किया गया |
-> इनके सदस्य थे
       -> डॉ. भीमराव अंबेडकर (अध्यक्ष)
       -> एन. गोपाल स्वामी आयंगर
       -> अल्लादी कृष्ण स्वामी अय्यर
       -> कन्हैयालाल मानिकलाल मुंशी
       -> सैय्यद मोहम्मद सादुल्ला
       -> एन. माधवराव
       -> डी. पी. खेतान
[ Note: डॉ. भीमराव अंबेडकर पूर्वी बंगाल से चुने गए थे किंतु भारत पाक विभाजन के पश्चात पूर्वी बंगाल पाकिस्तान में चला गया अतः डॉ.अंबेडकर को संविधान सभा में शामिल करने के लिए बंबई प्रेसिडेंसी की पूना संसदीय सीट कांग्रेस के एम. आर. जयकर से त्यागपत्र दिलाकर उपचुनाव कराई गई और वहां से वे निर्वाचित होकर पुनः संविधान सभा में सम्मिलित हुए | ]

प्रारूप समिति के सदस्यों को याद रखने की Trick

Trick: डी. पी. खेतान – गोपाल, माधव, कृष्ण, कन्हैया सभी को बुलाओ |

      डी. पी. खेतान -> डी. पी. खेतान
      गोपाल -> एन. गोपाल स्वामी आयंगर
      माधव -> एन. माधवराव
      कृष्ण -> अल्लादी कृष्ण स्वामी अय्यर
      कन्हैया -> कन्हैयालाल मानिकलाल मुंशी
      स -> सैय्यद मोहम्मद सादुल्ला
      भी -> डॉ. भीमराव अंबेडकर

-> देश के विभाजन के बाद 31 अक्टूबर 1947 को भारतीय संविधान सभा(Constituent Assembly) का पुनर्गठन किया गया |जिसमें भारतीय संविधान सभा के सदस्यों की कुल संख्या 299 थी | जिनमें 229 प्रांतों से तथा 70 देशी रियासतों से |
[Note: भारतीय संविधान सभा(Constituent Assembly) में महिला सदस्यों की कुल संख्या 15 थी |]
-> प्रारूप समिति ने संविधान के प्रारूप पर विचार विमर्श करने के बाद अपनी रिपोर्ट 21 फरवरी 1948 ईस्वी को संविधान सभा(Constituent Assembly) को सौंपी |
-> संविधान के प्रारूप पर कुल 114 दिन बहस हुई |
-> 26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान को पारित कर दिया गया |
-> 26 नवंबर 1949 को 15 अनुच्छेद तो लागू कर दिए गए परंतु शेष संपूर्ण संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया तथा भारत को गणतंत्र घोषित किया गया |
[Note:शेष संपूर्ण संविधान 26 जनवरी 1950 को इसलिए लागू किया गया क्योंकि26 जनवरी 1930 को प्रथम स्वतंत्रता दिवस रावी नदी के तट पर तिरंगा फहरा कर मनाया गया था |]
-> संविधान निर्माण में 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन लगे |
-> संविधान सभा की अंतिम बैठक 24 जनवरी 1950 को हुई | जिसमें उपस्थित 284 सदस्यों ने संविधान पर हस्ताक्षर किए इन 284 सदस्यों में 8 महिला सदस्य थी |और इसी दिन राष्ट्रीय गान (जन गन मन) तथा राष्ट्रीय गीत (वंदे मातरम) स्वीकार किया गया |
-> 24 जनवरी 1950 को “डॉ. राजेंद्र प्रसाद” को भारत का प्रथम राष्ट्रपति चुना गया |परंतु उन्होंने 26 जनवरी 1950 को पद ग्रहण किए |
-> 24 जनवरी 1950 को संविधान सभा को भंग कर दिया गया परंतु इसे प्रथम लोकसभा के गठन तक अंतरिम संसद में बदल दिया गया | तथा इसका अस्थायी अध्यक्ष जी.वी. मावलंकर को बनाया गया |
[Note: प्रथम लोकसभा अध्यक्ष जी. वी. मावलंकर थे |]
-> 26 जनवरी 1950 को सारनाथ में स्थित अशोक स्तंभ को राष्ट्रीय चिन्ह के रूप में स्वीकार किया गया |
-> मूल संविधान में 395 अनुच्छेद और 8 अनुसूचियां एवं 22 भाग थे |जबकि वर्तमान संविधान में 395 अनुच्छेद और 12 अनुसूचियां एवं 22 भाग हैं |
-> भीमराव अंबेडकर को भारतीय संविधान का पिता/जनक जबकि “B.N राव” को भारतीय संविधान का शिल्पकार कहा जाता है |
-> स्वतंत्रता प्राप्ति के समय ब्रिटिश प्रधानमंत्री “क्लीमेंट एटली” एवं राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष “J.B.कृपलानी” थे |

Sign up to Receive Awesome Content in your Inbox, Frequently.

We don’t Spam!
Thank You for your Valuable Time

Advertisements

Share this post